[ लोन सेटलमेंट कैसे करे 2024 ] जानिए बैंक लोन सेटलमेंट से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी होम लोन, पर्सनल लोन, वाहन लोन | Loan Settlement Kaise Kare

हर व्यक्ति अपने जीवन में अपनी निजी जरूरतो को पूरा करने के लिए लोन लेता है परंतु जब वह किसी कारण से लोन का भुगतान करने में असमर्थ होता है, तब लोन सेटलमेंट की नौबत आती है| आपकी जानकारी के लिए बता दे की लोन सेटलमेंट कैसे करे इसको आप दो तरीके से सेटलमेंट करा सकते है| लोन सेटलमेंट देनदार तब करता है, जब वह बैंक या संस्था से लिए ऋण राशि को किस्तों में वापस नही कर पता है जिसके कई कारण हो सकते है|

लोन-सेटलमेंट-कैसे-करे
लोन सेटलमेंट कैसे करे

लोन सेटलमेंट करते समय आपको कुछ बातो पर विशेष ध्यान देना चाहिए अन्यथा आपको काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है| आज का यह लेख उन सभी लोगो के लिए महत्वपूर्ण लेख होने वाला है, जो की अपना लोन क्लियर करने में असमर्थ है| इस लेख में हम आपको लोन सेटलमेंट से संबंधित जानकारी देंगे जैसे की- लोन सेटलमेंट क्या है? बैंक लोन सेटलमेंट कितने प्रकार के होतें है? सेटलमेंट के बाद सिबिल स्कोर कैसे सुधारें? क्या मैं लोन सेटलमेंट के बाद लोन ले सकता हूं –

प्रमुख बिंदु - देखे

लोन सेटलमेंट क्या है ?

लोन सेटलमेंट को Debt सेटलमेंट के रूप में भी जाना जाता है, यदि कोई व्यक्ति लोन चुकाने में असमर्थ होता है तो ऐसी स्थिति में बैंक के पास एक आखरी ऑप्शन होता है, की लोन सेटलमेंट हो जाए| यदि आप एक बार लोन सेटलमेंट होने के बाद बैंक आपको कभी भी लोन की बकाया राशि चुकाने के लिए नही कहेगी क्योंकि आपके बीच एक एग्रीमेंट साइन हो जाता है| लोन सेटलमेंट का मुख्य उद्देश्य यह है की लोन की बकाया राशि को प्राप्त करना होता है, इसके माध्यम से बैंक को लोन पर अधिक नुकसान न हो|

लोन का सेटलमेंट कब होता है?

लोन सेटलमेंट करने के लिए आपके पास कोई ठोस वजह होना चाहिए, जिससे बैंक को आश्वस्त किया जा सके| लोन सेटलमेंट तब होता है जब आप अपनी लोन की किस्त तथा लोन ईएमआई भरने में असमर्थ रहते है उस कठिन समय में लोन सेटलमेंट होता है| लोन सेटलमेंट कई विभिन्न कारणों से किया जा सकता है, जैसे की वित्तीय कठिनाइयों तथा कर्ज से जल्दी बहार निकलने की इच्छा हो तो भी आप लोन सेटलमेंट करवा सकते है|

https://twitter.com/ETNowSwadesh/status/1618910542529466368?s=20
लोन सेटलमेंट कैसे करे

वन टाइम सेटलमेंट क्या होता है ?

One Time Settlement के तहत जब कोई व्यक्ति किसी प्रकार का लोन लेता है और वह लोन नही चुका पता है तो इस स्थिति में बैंक या अन्य वित्तीय संस्थान उस व्यक्ति को लोन में काफी छूट देती है| जिसके वह उस लोन को जल्दी से जल्दी एक बार में भर सके|

बैंक लोन सेटलमेंट कितने प्रकार के होतें है ?

यदि आप अपना लोन सेटलमेंट करवाना चाहते है, तो आपके पास दो विकल्प है| पहला कोर्ट के माध्यम से और दूसरा बैंक में सीधे संपर्क करके आप लोन सेटलमेंट करा सकते है| कोर्ट के माध्यम से सेटलमेंट तब होता है जब लोन न चुकाने पर बैंक नोटिस भेजती है तथा उसके बाद खुद केस दर्ज कराते है|

लोन सेटलमेंट के लिए आप सीधे ही बैंक के पास अप्रोच करे और कोर्ट केस होने के पहले ही आपको लोन सेटलमेंट का प्रस्ताव बैंक के सामने रख देना है|

बैंक लोन सेटलमेंट कैसे करे (पूरा प्रोसेस)?

यदि आप बैंक लोन सेटलमेंट करवाना चाहते है तो आपको इसके लिए नीचे दी गई स्टेप्स को फॉलो करना होगा| जिसकी जानकारी नीचे विस्तार से दी गई है –

  • लोन सेटलमेंट के लिए आपको सर्वप्रथम बैंक से परमिशन लेना होगा|
  • इसके लिए आपको एक स्पष्टकरणा को तैयार करना होगा|
  • यदि आप मानसिक भुक्तान नही कर सकते है या फिर ईएमआई का भुक्तान नही करते तो इसके लिए आपके पास कोई ठोस कारण होना चाहिए|
  • इसके बाद आपको वन टाइम सेटलमेंट करने के लिए आप तैयार हो जाना है|
  • इसके बाद आपको बैंक जाकर बताना होगा की आप कर्ज का भुक्तान नही कर सकते है|
  • लोन सेटलमेंट के लिए बैंक आपको 80% का प्रस्ताव रख सकता है, परंतु आपको इस प्रस्ताव को बिलकुल भी नही मानना है|
  • इसके बाद आपको बैंक 70% भुक्ताना का प्रस्ताव देगी|
  • इसके बाद भी आप इस भुक्तान को ना करे, ऐसे में आपको 50% पर जाकर अपनी बात को फाइनल करनी होगी लोन का भुक्तान बकाया से भी कम राशि में हो सकता है|

बैंक लोन सेटलमेंट से पहले और बाद में होने वाली परेशानियाँ और नुकसान ?

  1. बैंक लोन सेटलमेंट की स्थिति में उधरकर्ता का क्रेडिट स्कोर 50 से 100 पॉइंट्स तक कम हो जाता है|
  2. इस परिस्थिति में अगले 7 वर्षो तक आप दोबारा लोन नही ले सकते है|
  3. लोन सेटलमेंट के लिए आपको बैंक की सभी शर्ते माननी पड़ेगी|
  4. बैंक द्वार ब्लैक लिस्टेड भी सेटल्ड अकाउंट को क्लोज्ड अकाउंट में बदलने का प्रयास करे|

क्या लोन सेटलमेंट से सिविल खराब होता है ?

यदि आप लोन सेटलमेंट करवाते है तो इससे आपका क्रेडिट स्कोर तो गिरता ही है इसके अलावा आपकी सिविल खराब भी होती है| एक बार लोन सेटलमेंट के बाद शायद आपको कोई दूसरा अन्य लोन का लाभ नही मिल पाएगा|

सेटलमेंट के बाद सिविल स्कोर कैसे सुधारें?

यदि आपके किसी कारण से लोन सेटलमेंट करवा लिए है अर्थात लोन सेटलमेंट के बाद भी आप अपना सिविल स्कोर सुधारना चाहते है तो आपको इसके लिए दोबारा लोन लेना होगा, उस दूसरे लोन की ईएमआई सभी समय पर भरे इससे आपकी सिविल में सुधार होगा|

होम लोन और पर्सनल लोन सेटलमेंट में अंतर ?

होम लोन सेटलमेंट :-

यदि आप अपना नया घर बनाना चाहते है, परंतु आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी नही है तो आप अपना घर बनाने के लिए होम लोन भी ले सकते है, यह लोन एक सिक्योर लोन होता है| आपकी जानकारी के लिए बता दे की यदि आप किसी कारण से अपना होम लोन भरने में असमर्थ होते है, तथा लोन सेटलमेंट के लिए कोई सटीक कारण होना चाहिए| इस होम लोन सेटलमेंट में बैंक आपको लोन पर छूट देती है|

पर्सनल लोन सेटलमेंट :-

लोन सेटलमेंट तब होता है जब कोई लोन लेने वाला व्यक्ति लोन का भुक्तान नही कर पता है तब लोन दाता लोन सेटलमेंट के लिए प्रस्ताव देता है| बैंक एक निश्चित अवधि के बाद ही लोन सेटलमेंट की अनुमति दे सकता है| लोन सेटलमेंट की राशि बैंक में जमा करने के बाद बैंक लोन बंद कर देगा तथा उधरकर्ता अब बैंक के लिए ऋण ग्राहक नही रहेगा|

लोन सेटलमेंट कैसे करे

क्या मैं लोन सेटलमेंट के बाद लोन ले सकता हूं?

लोन सेटलमेंट के बाद दोबारा लोन मिलने की संभावना बहुत कम होती है, लोन सेटलमेंट के बाद लोन मिलना यह आपकी बैंक के ऊपर निर्भर रहता है|

सिविल खराब होने पर लोन कैसे मिलेगा?

सिविल खराब होने पर आपको लोन मिलने की संभावना बहुत ही कम होता है, यदि आपको दोबारा लोन मिले जाए तो आपको इसकी ईएमआई समय पर जमा करवा देना है, इससे आपकी सिविल भी अच्छी होगी|

अगर लोन सेटलमेंट राशि का भुगतान समय पर नहीं किया गया तो बैंक क्या करेंगे?

यदि आपने पहले कभी लोन लिए है तो आपको समय पर लोन भुक्तान करना होगा, समय पर लोन नही चुकाने की स्थिति में आपकी सिविल खराब हो सकती है|

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment